udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news शहीद सैनिक के आश्रितों को शाॅल भेंट कर किया सम्मानित

शहीद सैनिक के आश्रितों को शाॅल भेंट कर किया सम्मानित

Spread the love
पौड़ी: जनपद में जिला प्रशासन तथा सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास विभाग के संयुक्त तत्वाधान से शौर्य दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया। जिलाधिकारी समेत पूर्व सैनिकों व आम नागरिकों ने कारगिल शहीदों को नमन कर उनके चित्रों पर पुष्प अर्पित किये। जिलाधिकारी ने शहीद सैनिक के आश्रितों को शाॅल भेंट कर उनको सम्मानित किया। इस मौके पर जीजीआईसी की छात्राओं की ओर से कई देश भक्ति गीत व रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किये गये। जिलाधिकारी ने निबंध प्रतियोगिता के तहत विजेता व उपविजेता छात्रों को पुरस्कार बांटे।
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार विद्यामंदिर, जीआईसी, जीजीआईसी, एमआईसी तथा डीएवी के छात्र-छात्राओं व एनसीसी कैडिट्स ने एजेन्सी चैक से माल रोड, धारा रोड चैक होते हुए कलक्ट्रेट परिसर तक मार्च पास्ट किया। कलक्ट्रेट परिसर में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि जिलाधिकारी सुशील कुमार ने करगिल युद्ध के अमर शहीदों को याद किया। कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ करते हुए जिलाधिकारी ने ध्वजारोहण कर कारगिल शहीदों की याद में दो मिनट का मौन रखा।
जिलाधिकारी ने कहा कि देश की सीमाओं पर तैनात जवानों ने अपने प्राणों की बली देकर हमारी सीमाओं को सुरक्षित रखा है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड पुराने समय से ही सैन्य सेवा में जाने की गौरवमयी परम्परा रही है जो कि आज भी कायम है। उन्होंने युवाओं को अधिक से अधिक स्वैच्छिक भाव से देश की सेवा में जाने का आह्वान किया। जिलाधिकारी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उत्तराखंडवासियों को सौभाग्यशाली बताया।
कहा कि राज्य के हर एक परिवार में एक-एक सदस्य सेना में भर्ती होकर देश हित में निःस्वार्थ भाव से तैनात है। उन्होंने कार्यक्रम में जीजीआईसी की छात्राओं की ओर से आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम को सराहनीय बताया।  जिलाधिकारी ने भिंताई निवासी वीर चक्र विजेता शहीद कुलदीप सिंह की माता कमला देवी, युद्ध में घायल मंजखोली निवासी नायक (से.नि) त्रिलोक सिंह रावत एवं सिमल्थ निवासी नायक (से.नि) दलवीर सिंह को शाॅल ओढ़ाकर उनका सम्मान किया।
 
इस मौके पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता के सीनियर वर्ग में विद्यामंदिर की गार्गी ध्यानी प्रथम, एमआईसी की हिमांशी द्वितीय तथा जीआईसी के कुलदीप नेगी तृतीय रहे। जूनियर वर्ग में जीआईसी के भाष्कर प्रथम, जीजीआईसी की कुमकुम नौटियाल द्वितीय तथा डीएवी की कोमल तृतीय रही। इसके अलावा जिलाधिकारी ने बीई के छात्र रोहित बिष्ट, बी टैक के छात्र राहुल चैहान, बी टैक की छात्रा प्रियंका गुसांई, बी टैक के छात्र अमित नेगी तथा बी टैक की छात्रा रक्षा बिष्ट को सरकार की ओर से दी जाने वाली सैनिक आश्रित छात्रवृत्ति भी वितरित की। 
कार्यक्रम में मेजर करन सिंह (से.नि.), पूर्व सैनिक सत्य प्रसाद धस्माना आदि ने कारगिल युद्ध के वृत्त चित्र पर रोशनी डाली। कहा कि उत्तराखंड के सैनिकों ने इस युद्ध में अदम्य साहस का परिचय दिया। कहा कि इस युद्ध में उत्तराखंड के वीर सैनिकों ने बढ़चढ़ कर देश हित में अपने प्राणों की आहूतियां दी। उन्होंने कहा कि राज्य से इस युद्ध में 75 सैनिकों ने सहादत प्राप्त की। जिसमें से 17 रणबांकुर पौड़ी जिले से ताल्लुक रखते हैं। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी दीप्ति सिंह, अपर जिलाधिकारी रामजी शरण शर्मा, कर्नल पारस बसनेत, क0 (से.नि.) आनंद कुमार थपलियाल आदि उपस्थित रहे।