udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news स्थानीय उत्पाद को ओर बेहतर गुणवत्ता के साथ तैयार करने को कहा

स्थानीय उत्पाद को ओर बेहतर गुणवत्ता के साथ तैयार करने को कहा

Spread the love
पौड़ी: पौड़ी जनपद के ब्लाक पोखडा केे ग्राम सभा गवाॅंणी में आयोजित गवाॅंणी महोत्सव 2018 का शुभारंभ प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत ने बतौर मुख्य अतिथि के रूप में दीप प्रज्जवलित कर किया। इस मौके पर काबिना मंत्री सतपाल महाराज सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति ने भी प्रतिभाग किया।
साथ ही मुख्यमंत्री श्री रावत ने महोत्सव परिसर में स्थापित विभागीय एवं महिला समूह के स्टालों का अवलोकन कर मौजूद सामग्री की जानकारी ली साथ ही स्थानीय उत्पाद को ओर बेहतर गुणवत्ता के साथ तैयार करने को कहा। उन्होने यमकेश्वर ब्लाक के सस्थान के हेम्प से बने सामाग्री का भी अवलोकन कर, जानकारी ली। जबकि योजना फार्म मशीनरी बैंक योजना के तहत लाभान्वित कास्तकारों जानकारी भी ली।
आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि वनों में आच्छादित चीड के वृक्ष बहुपयोगी है। इससे 143 प्रकार के वस्तुएं बनाये जाते हैं। चीड़ का वृक्ष हमारे रोजगार के साथ-साथ राज्य के आय संबर्धन में सहायक है। उन्होने गवांणी गांव के लोगों की प्रशंसा करते हुए कहा कि बहुत कम लोग होते है जो दूसरों के लिए कार्य करते है। यहां के ग्रामीण दूसरों की सेवा के लिए एक मिशाल के रूप में कार्य करते आ रहे है।
उन्होने ग्रामीणों को अपने खेत एवं वनों की ओर लौटने को कहा। कहा कि वनों की उपज को आज कई लोगों ने रोजगार का जरिया बनाया है। तिमला, आवला आदि की औषधि गुण वाली बने अचार की आज बहुतायत से मांग बढता जा रहा है। कई लोगों ने इसे अपना रोजगार का जरिया बनाकर अपना आजिविका मंे संबर्धन किया है। उन्होने गुलाब की खेती वृहद रूप से करने को कहा। कहा कि गुलाब का तेल 10 से 12 लाख रूपया प्रति किलो में बिकता है। पशुओं की समस्या को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने लेमनग्रास की खेती को बढावा दिया है।
इससे भूमि में कास्त बना रहने के साथ साथ अच्छी आमदनी भी होगी।  मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य के इन क्षेत्रों में उद्योग लगाने के लिए इनवेस्टर समिट में 125 हजार करोड़ की एमओयू पर हस्ताक्षर हुए है। 700 करोड जैविक खेती पर सहकारिता समिति के माध्यम से दिये हैं। राज्य में 2200 किमी सड़क बनाया है। 99 प्रतिशत गांव सड़क से जोडा गया है। आज दूरस्थ गांव के घरों को विधुतिकृत किया गया है। उपभोक्ता अपने घरों की संजोये गये लाईट व्हट्अप के माध्यम से फोटो कंमेट भेजते है। 
इस अवसर पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने जनपद में पर्यटन की अपार संभावना बताते हुए लोगों को स्वरोजगार स्थापित करने का कार्य करने की बात कही। उन्होंने कहा दीनदयाल उपाध्याय आवासीय योजना के तहत लोग अपने गांव के घरों को पर्यटन एवं बैंकों के सहयोग से आच्छादित  कर होमस्टे का लाभ ले रहे हैं।  कहा कि इससे क्षेत्र में आमदनी बढ़ेगी और क्षेत्र के पर्यटन एवं धार्मिक स्थलों में लोगों का आवाजाही रहने से और अधिक लोग आजीविका के क्षेत्र में संवर्द्धन करेंगे।
इस अवसर पर भाजपा अध्यक्ष शैलेंद्र बिष्ट, ब्लाक प्रमुख धीरेंद्र सिंह रावत, धाद संरक्षक एवं मेला समिति के जयंत नवानी,  डा0 सुनील नवानी, लोकेश नवानी, प्रभारी जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी दीप्ति  सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जेआर जोशी, उप जिलाधिकारी एसएस नेगी, अनिल चनियाल एवं पर्यटन अधिकारी केएस नेगी सहित कई गणमान्य व्यक्ति, जन प्रतिनिधि, अधिकारी व आम जनमानस उपस्थित थे।