udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news तल्लानागपुर पेयजल योजना एक बार फिर विवादों में !

तल्लानागपुर पेयजल योजना एक बार फिर विवादों में !

Spread the love

योजना का निर्माण करने वाले तत्कालीन पांच इंजीनियरों को नोटिस जारी,पेयजल योजना के निर्माण में पाई गई हैं कई खामियां

रुद्रप्रयाग। जनपद की सबसे बड़ी तल्लानागपुर पेयजल योजना एक बार फिर से विवादों में आ गई है। पेयजल निगम के प्रबन्ध निदेशक ने संज्ञान लेकर पांच इंजीनियरों को नोटिस जारी करके स्पष्टीकरण मांगा है। जिलाधिकारी ने मंगेश घिल्डियाल ने स्वंय पेयजल योजना का निरीक्षण करके योजना के निर्माण में कई अनियमितताएं पाई थी।

जल निगम के लिए कामधेनु बन चुकी तल्लानागपुर पेयजल योजना का जिन्न एक बार फिर से बाहर आ गया है। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने पेयजल योजना का पूर्व में निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने पाया था कि दो नये टैंको का निर्माण किया गया था, लेकिन टैंक कुछ ही समय में क्षतिग्रस्त हो गये थे।

 

जिसके बाद जिलाधिकारी ने पेयजल निगम के निदेशायल में शिकायत की थी और तत्तकालीन इंजीनियरों से स्पष्टीकरण मांगने के साथ ही रिकबरी करने की मांग की थी। शिकायत के बाद निगम के प्रबंध निदेशक ने सज्ञान लेते हुये तत्कालीन पांच इंजीनियरों को नोटिस जारी कर दिये हैं।

वर्ष 2011-12 में स्वीकृत हुई तल्लानागपुर पेयजल योजना लगभग 28 ग्राम पंचायतों के 40 रेवन्यू गांव और 94 बस्तीयों की 40 से 50 हजार आबादी के लिये बननी थी, लेकिन यह योजना शुरूआत से ही अब तक विवादों में है। कई बार की जांचे भी हो चुकी हैं, लेकिन जनता फिर भी प्यासी है। सरकारी इंजीनियरों के लिए यह योजना काम धेनु बनी हुई है।

 

अब एक बार फिर योजना विवादों में आ गई है और फिर से योजना की जांच की जा रही है। इस योजना ने के लिए सर्व प्रथम 23 करोड़ रूपये स्वीकृत किये थे, लेकिन बाद में कई वर्षो तक इसकी लागत बढती गयी। निगम ने तीन अधिशासी अभियन्ताओं, एक सहायक और एक जूनियर अभियन्ता को नोटिस जारी कर दिया है।

जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने भी स्वीकार किया कि योजना के निर्माण में अनियमितताएं हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि इसकी शिकायत शासन से की गई थी। जिन इंजीनियरों को नोटिस जारी हुये हैं यह अब रुद्रप्रयाग में नहीं हैं। योजना में हुई अनियमितताएं की जाच की जा रही है। इंजीनियरों से रिकबरी करने के लिये कहा गया है।