udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news तीर्थयात्रियों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने के दावे खोखले

तीर्थयात्रियों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने के दावे खोखले

Spread the love

ऋषिकेश। पालिका और प्रशासन के तीर्थयात्रियों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने के दावे खोखले साबित हो रहे हैं। पिछले दो दिनों से भीषण गर्मी पड़ रही है। यात्रा बस ट्रांजिंट कंपाउंड (बीटीसी)में स्थित फोटोमैट्रिक पंजीकरण केंद्र के बाहर यात्रियों को मौसम की मार से बचाने के लिए पर्याप्त इंतजाम नहीं हैं, ऐसे में तीर्थयात्री खुले आसमान के नीचे चिलचिलाती धूप में पंजीकरण कराने को मजबूर हैं।

 

यह हाल तब है जब पखवाड़ाभर पहले व्यवस्थाओं का जायजा लेने बीटीसी आए गढ़वाल आयुक्त ने पालिका को पंजीकरण केंद्र के बाहर 10 मीटर आगे तक यात्री शेड बनाने का निर्देश दिया था।उत्तराखंड की विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा अब रफ्तार पकडऩे लगी है। गुजराज, आंध्रा, मध्यप्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना, महाराष्ट्र, उड़ीसा आदि प्रांतों से तीर्थयात्रियों की रिकार्ड भीड़ यात्रा बस ट्रांजिट कंपाउंड पहुंच रही है। यात्रा शुरू होने के एक महीने बाद भी पालिका और प्रशासन ने यात्री सुविधाओं का इंतजाम नहीं किया है।

 

पंजीकरण के लिए तीर्थयात्रियों को चटक धूप में खड़ा होना पड़ रहा है। फोटोमैट्रिक केंद्र के हैड श्रीनिवास ने बताया कि पालिका ने वर्तमान में जो यात्री शेड बनाया है वह तीर्थयात्रियों की भीड़ के आगे पर्याप्त नहीं है। यात्री शेड में पंखे भी नहीं लग सके हैं। यात्री गर्मी से बेहाल हैं।संयुक्त रोटेशन यात्रा व्यवस्था समिति के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी बृजभानू गिरी ने बताया कि पालिका ने बीटीसी में उन स्थानों पर यात्री शेड बनाए हैं, जो उपयोगी नहीं है। फोटोमैट्रिक केंद्र के बाहर यात्री शेड का विस्तार होना चाहिए था।

 

बताया कि शनिवार को पंजीकरण के लिए खुलेआसमान के नीचे चटक धूप में लंबी कतार में खड़े यात्री भीषण गर्मी से बेहाल रहे, लेकिन पालिका प्रशासन ने सुध नहीं ली। इनकी सुनिएतीर्थयात्रियों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो, इसका ख्याल रखा जा रहा है। यदि फोटोमैट्रिक पंजीकरण केंद्र के बाहर यात्री शेड के विस्तार की जरूरत है तो इसके लिए पालिका को निर्देशित किया जाएगा। हरगिरी, उपजिलाधिकारी

वीकेंड पर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था लडख़ड़ाई
चारधाम यात्रा चरम पर होने से वीकेंड पर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था लडख़ड़ा गई। हाईवे पर विभिन्न स्थानों पर जाम लगने से पर्यटकों का पसीना निकला। गाडिय़ों का रूट डायवर्ट करने के बाद भी जाम से राहत नहीं मिली। खासकर हाईवे पर भारी वाहन चलने से दिक्कत आई। बीते एक सप्ताह से चारधाम यात्रा वाहनों का दबाव बढऩे से ट्रैफिक व्यवस्था पटरी से उतर गई है। हाईवे पर वाहन चलाना मुश्किल हो रहा है। हरिद्वार से ऋषिकेश पहुंचने में यात्रियों के दम फूल रहे है।

हरिद्वार-ऋषिकेश के बीच दो रेलवे फाटक मोतीचूर व श्यामपुर के बंद होते ही वाहनों की लाइन लग रही है। एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में जाम लग रहा है। यहीं हाल मोतीचूर रेलवे फाटक के भी है। क्षतिग्रस्त हाईवे भी जाम का कारण बन रहा है। शनिवार को भीड़ बढऩे पर भारी वाहन नेपालीफार्म-भानियावाला होकर भेजे गये। जबकि कुछ हाईवे के किनारे खड़े करवाने पड़े। वीकेंड के चलते रामझूला से ब्रह्मपुरी के बीच भी कई बार जाम लगा। यहां सडक़ पर बिल्डिंग मैटेरियल पड़ा होने एवं सडक़ पर दुकानें लगाने से परेशानी आई।

एसपी देहात सरिता डोभाल ने बताया कि चारधाम यात्रा चरम पर होने के कारण वीकेंड पर यात्रियों की भीड़ बढ़ी। सभी तिराहे-चौराहों पर ट्रैफिक नियंत्रण को पुलिस जवान लगाये गये। लेकिन वाहनों का दबाव अधिक होने से परेशानी आई। पर्यटकों से फिर पैक ऋषिनगरीऋषिकेश। वीकेंड पर फिर गंगाघाटी पर्यटकों से पैक हुई। घाटी के कैंप व होटल पर्यटकों से अट गये हैं। मौसम सुहावना होने पर पर्यटकों ने खूब राफ्टिंग का आनंद उठाया।

साहसिक पर्यटन के लिये मशहूर गंगाघाटी वीकेंड पर फिर पर्यटकों से अटी। ऋषिकेश कौडियाला के बीच होटल व बीच कैंप दो दिन के लिये पैक हो गये हैं। पर्यटकों ने साहसिक पर्यटन से जुड़ी गतिविधियों का जमकर लुत्फ उठाया। कार्यवाहक पर्यटन अधिकारी दीपक कुमार ने बताया कि गर्मियों में गाजियाबाद, नोएडा, दिल्ली, हरियाणा व पंजाब के अलावा पूर्वी यूपी से साहसिक पर्यटन को पर्यटक आते है। जून माह तक पर्यटकों की भीड़ रहेगी।

खस्ताहाल सडक़ें राहगीरों को दर्द दे रही
नगर पालिका क्षेत्र में खस्ताहाल सडक़ें राहगीरों को दर्द दे रही हैं। चंद्रेश्वरनगर में खराब सडक़ें आए दिन राहगीरों के लिए दुर्घटना का सबब बनती हैं। जिम्मेदार पालिका प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। तीर्थनगरी ऋषिकेश चारधाम यात्रा व पर्यटक स्थल के लिहाज से महत्वपूर्ण क्षेत्र माना जाता है। लेकिन धरातल पर जगह जगह अव्यवस्थाएं फैली हुई हैं।

ऋषिकेश नगर पालिका क्षेत्र अंतर्गत सडक़ें खस्ताहाल हो चुकी हैं। नगर पालिका ऋषिकेश के चंद्रेश्वरनगर वार्ड में कई जगहों पर सडक़ पर बड़े गड्ढे बन गए हैं। आए दिन दुपहिया सवार दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। नगर पालिका ऋषिकेश के सहायक अभियंता आनंद सिंह मिश्रवाण ने कहा कि ऋषिकेश में पालिका बोर्ड के भंग होने के कारण कई प्रस्तावित कार्य भी रुक गए हैं। लेकिन शीघ्र ही इन सभी जगहों पर कार्य होना है।