udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news टिहरी झील में हुई कैबिनेट में पर्यटन को उद्योग का दर्जा देने पर मुहर

टिहरी झील में हुई कैबिनेट में पर्यटन को उद्योग का दर्जा देने पर मुहर

Spread the love

नई टिहरी। पर्यटन को बढ़ावा देने का संदेश देने के लिए त्रिवेंद्र सरकार के मंत्रीमंडल की बैठक टिहरी झील में आयोजित की गई। फ्लोटिंग मरीना (तैरते रेस्तरां) में आयोजित कैबिनेट में उत्तराखंड में पर्यटन को उद्योग का दर्जा देने पर मुहर लगाई गई।

उत्तराखंड के इतिहास में यह पहला मौका है, जब टिहरी झील में तैरते रेस्तरां में कैबिनेट के सदस्य राज्य के विकास के मुददों पर चर्चा की। बैठक के बाद शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने बताया कि बैठक में सूक्ष्म लघु उद्योग और मध्यम उद्योगों को पर्यटन उद्योग का दर्जा देने का प्रस्ताव पारित किया गया।

यही नहीं आयुर्वेद, योगा, होम्योपैथी, साहसिक पर्यटन, ग्लाइडिंग, वाटर खेल, राफ्टिंग को पर्यटन उद्योग का दर्जा देने पर मुहर लगाई गई। इसके अंतर्गत सारी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। सरकारी सूत्रों के अनुसार टिहरी झील में कैबिनेट की बैठक करने के पीछे सरकार को मंतव्य देश-दुनिया के लोगों को पर्यटन के लिए यहां आने का संदेश देना है। सरकार का मानना है कि टिहरी झील किसी परिचय की मोहताज नहीं है, लेकिन पर्यटन मानचित्र पर अभी इसे स्थान दिलाना बाकी है। इसके लिए खास प्रयास किए जा रहे हैं।

वैसे तो फ्लोटिंग मरीना की क्षमता 80 लोगों की है, लेकिन सुरक्षा कारणों के चलते केवल 25 लोग ही इसमें सवार हुए। टिहरी झील में बार्ज बोट और कुछ अन्य नावें भी फ्लोटिंग मरीना के साथ-साथ चल रही थी। पर्यटन के अलावा कैबिनेट में कर्मचारियों, चिकित्सा सहित अन्य मुद्दे भी उठे। शहरी विकास मंत्री मदन कोशिक ने बताया कि कई मुद्दे ऐसे हैं, जिनका खुलासा थराली चुनाव की आचार संहिता के चलते अभी नहीं किया जा सकता है।

25 से 27 मई तक टिहरी झील में राष्ट्रीय महोत्सव आयोजित किया जा रहा है। इसमें देश भर से पर्यटक और निवेशक आएंगे। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत टिहरी झील पहुंचकर टिहरी महोत्सव की तैयारियों का जायजा लिया। इस मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि टिहरी झील में कैबिनेट उत्तराखंड और टिहरी के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगी।

टिहरी को एक नई पहचान मिलेगी। कहा कि टिहरी झील के पास पूरे विश्व के पर्यटन खींचने की ताकत है और अब यहां पर पर्यटन विकास के लिए कार्य किया जाएगा। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि 22 मई को होने वाले राष्ट्रीय खेल महोत्सव में देश और दुनिया के पर्यटक आएंगे।