udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news उत्तराखंड में कहर बरपा रही बारिश

उत्तराखंड में कहर बरपा रही बारिश

Spread the love

देहरादून। उत्तराखंड राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी हो चुका हैं। राज्य में अगले 24 घंटो में भारी बारिश की चेतावनी है। मौसम विभाग ने भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया हैं।

 

गढ़वाल से लेकर कुमाऊं तक सावधानी बरतने के निर्देश दिये गये हैं। उम्मीद है कि आज ही की तरह अगले 24 घंटे में प्रदेश के कई स्थानों में भारी बारिश आ सकती है। सुबह से हो रही वर्षा के कारण राजधानी दून में अनेक स्थानों पर जलभराव की सूचना है। विकासनगर क्षेत्र में अचानक मौसम बदल गया और तेज बारिश शुरू हो गयी। जिसके कारण सिनेमा गली सहित कई क्षेत्रों में जलभराव हो गया। जिसके कारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया।

 

विकासनगर क्षेत्र में जो जलभराव हुआ उसने नगर पालिका की तैयारियों की पोल खोलकर रख दी। इसी तरह देहरादून शहर में भी अनेक स्थानों में जलभराव हुआ। नगर निगम का ड्रनेज सिस्टम एक बार फिर फेल होता हुआ नजर आया। शहर के कई इलाकों में पानी भर गया और तो और गलियों तक में जलभराव देखा गया। बंद नालियो का पानी सडक़ों पर बहने लगा जिससे ट्रैफिक व्यवस्था चरमरा गयी। वार्ड नम्बर १३ चुक्खुवाला में पुस्ता नाले में समा गया।

 

जिसके कारण कई मकानों को खतरा उत्पन्न हो गया। वहीं दूसरी ओर प्रदेश के कई क्षेत्रों में मार्ग मलबा आने से बंद हो गयें। जोशीमठ से मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया। बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग भी बंद है। भारी बारिश के चलते राजमार्ग बंद हुआ है। लामबगड़ में स्लाईड से आये मलबे के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हुआ।

 

राष्ट्रीय राजमार्ग के बंद होने की सूचना मिलते ही एनएच हाईवे खुलवाने में जुट गया। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार सुबह से राजधानी सहित हरिद्वार व आस पास के इलाकों में तेज बौछारे पड़ी हैं। वहीं मंगलवार रात तेज बौछारों के बीच बदरीनाथ हाईवे पर चट्टान टूट गयी जिससे यात्रा को रोक दिया गया।

 

उत्तराख्ंाड के कई इलाकों में सुबह से मूसलाधार बारिश का दौर जारी हैं। वहीं बदरीनाथ हाईवे पर बाजपुर में चट्टान टूटने से हाईवे बाधित हो गया। बीती रात करीब १२.०० बजे हाईवे बंद हो गया था। जिसे बीआरओ के मजदूरों ने आज सुबह ८.०० बजे खोल दिया था लेकिन मलबा हटाने के लिये सुबह ९.३० बजे वाहनों की आवाजाही पुन: रोक दी गयी। वहंी निर्माणाधीन पुलिया भी मलबे से क्षतिग्रस्त हो गयी हैं।

 

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विक्रम सिंह का कहना हैं कि राज्य में अगले २४ घंटे भारी बारिश की संभावना हैं। देहरादून में भी दो या तीन बार तेज बारिश हो सकती हैं। मौसम केंद्र ने भारी बारिश की चेतावनी जारी पहले ही कर दी थी। मौसम विभाग का कहना हैं कि अगले चार दिन देहरादून, टिहरी, हरिद्वार, उत्तरकाशी, अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, व पिथौरागढ़ में लगातार बारिश होने की संभावना हैं।

 

कुछ इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश की भी चेतावनी मौसम विभाग ने जारी की हैंं। गैरसैंण में भू स्खलन से खांसरा नदी में झील बन गयी हैं। जिला प्रशासन का कहना हैं कि झील से कोई खतरा नहीं हैं। वहीं भारी बारिश के कारण मलबा आने से देहरादून जिले में त्यूनी-चकराता-मसूरी, मसूरी- धनौल्टी, कालसी-खबऊ सहित नौ सडक़ों पर यातायात बंद हो गया।

 

कुमाऊं में भारी बारिश से पिथौरागढ़ में काली नदी में जलस्तर बढ़ गया। वहीं मनुस्यारी क्षेत्र में वर्षा के नाचनी-भैसकोड और डीडीहाट-दूनकोट मार्ग बंद हो गया। बागेश्वर में भी आधा दर्जन सडक़े बंद होने से पिंडर घाटी के गांवों का संपर्क टूट गया हैं।