udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news उत्तराखंड निकाय चुनाव: निर्दलीय बने किंग

उत्तराखंड: निकाय चुनाव में निर्दलीय बने किंग !

Spread the love

उत्तराखंड के 84 नगर निकाय चुनाव के 1148 पदों के लिए मतों की गिनती जारी है. कांग्रेस और बीजेपी के बीच मुख्य मुकाबला है, लेकिन निर्दलीय भी चुनाव मैदान में हैं.

उत्तराखंड के 84 नगर निकाय के 1148 पदों के लिए हुए चुनाव के वोटों की गिनती शुरू हो गई है. कांग्रेस और बीजेपी के बीच कांटे का मुकाबला है. इन सभी सीटों पर रविवार को वोटिंग हुई थी.

 

प्रदेश के 84 निकायों में वोटों की गिनती के लिए 822 टेबल लगाए गए हैं और सुबह आठ से बजे से वोटों की गिनती शुरू हो गई है.

निकाय चुनाव नतीजे: LIVE UPDATE-

– 84 निकायों के 162 वार्ड के नतीजे आए हैं. इनमें से 111 वार्ड में निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है. 38 वार्ड पर बीजीपी और 13 वार्ड कांग्रेस को जीत मिली है.

 

– नगर पालिका नगर पंचायत अध्यक्ष पदों के नतीजे भी आए हैं. इनमें से 4 पर बीजेपी ने जीत हासिल की है और 4 पर निर्दलीय. जबकि 7 अध्यक्ष के पदों पर बीजेपी आगे चल रही हैं. वहीं, पर 3 पर कांग्रेस और 3 पर निर्दलीय आगे हैं.

 

– 84 निकायों के 75 वार्डो पर घोषित हुआ परिणाम, जिनमें 57 वार्डो पर निर्दलीयों ने मारी बाज़ी

 

– प्रदेश के 84 निकाय चुनाव के 1148 वार्ड में से बीजेपी 43 सीटों पर जीत चुकी है और 2 सीटों पर आगे चल रही है.

 

– प्रदेश के 84 निकाय चुनाव के 1148 वार्ड में से कांग्रेस 25 सीटों जीत चुकी है और 2 सीटें पर आगे चल रही है.

 

– प्रदेश के 84 निकाय चुनाव के 1148 वार्ड में से निर्दलीय 47 सीटों पर जीत चुके हैं.

 

– देहरादून में बीजेपी की मेयर उम्मीदवार सुनील उनियाल गामा 2500 वोटों से आगे चल रही है.

 

– बीजेपी 3 सीटों पर बीजेपी जीती हासिल कर चुकी है. वार्ड नंबर 76, 91 और 54 से बीजेपी जीती.

 

– सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के विधानसभा क्षेत्र के तहत आने वाले डोईवाला के वार्ड नंबर 2 में सभासद पद पर कांग्रेस प्रत्याशी ने जीत हासिल की है.

 

उत्तराखंड के सात नगर निगम सहित 84 निकायों निकाय चुनाव की मतगणना जारी है. कई जगह से परिणाम आने भी शुरू हो गए हैं. राज्यभर के 43 वार्डों पर परिणाम घोषित किए जा चुके हैं, जिसमें 34 वार्डों पर निर्दलीयों ने बाजी मारी, 8 वार्डों पर बीजेपी का कब्जा रहा जबकि 1 वार्ड पर कांग्रेस खाता खोल सकी. प्रदेश में मेयर पद के लिए 51 प्रत्याशी मैदान में हैं. बीजेपी-कांग्रेस ही नहीं निर्दलीय प्रत्याशियों पर भी सबकी निगाहें टिकी हैं.

 

इस बार पूरे प्रदेश में मतपत्रों से चुनाव हुए हैं. 2013 के चुनाव की तरह इस बार चार नगर निगमों में ईवीएम का इस्तेमाल नहीं किया गया. प्रदेश में 1257 मतदान केंद्रों में बनाए गए 2664 मतदेय स्थलों पर रविवार को मतदान हुआ था. पूरे प्रदेश में 69.79 प्रतिशत मतदान हुआ है. रविवार को सात नगर निगम, 39 नगर पालिका परिषदों और 38 नगर पंचायतों में चुनाव कराए गए हैं.

 

– हल्द्वानी, नगर निगम वार्ड नंबर 5 से बीजेपी प्रत्याशी मीना देवी, वार्ड नंबर 9 से निर्दलीय उम्मीदवार राजेन्द्र सिंह जीना, वार्ड नं 12 से निर्दलीय प्रत्याशी राधा आर्य विजयी रहे.

– बागेश्वर के नारायनदेव वार्ड में बीजेपी की अंजू पूना विजयी रहीं.

– चमोली के थराली से कांग्रेस की बसंती देवी और नंदप्रयाग से निर्दलीय प्रत्याशी विनोद विजयी रहे.

– गौचर नगर पालिका के 4 वार्डों पर बीजेपी के प्रत्याशी विजयी रहे हैं.

– देहरादून नगर पालिका परिषद डोईवाला के कुल 3 वार्ड के नतीजे घोषित हुए हैं.

– यहां 2 वार्ड में बीजेपी, 1 वार्ड पर निर्दलीय उम्मीदवार ने मारी बाजी है.

– मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की विधानसभा की डोईवाला नगर पालिका में कुल 20 वार्ड हैं, जिसमें अभी तक की जानकारी के मुताबिक, बीजेपी को दो और एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार विजयी रहे.

– रानीखेत, अल्मोड़ा- नवगठित चिलियानौला नगर पालिका के वार्ड सभासदों के परिणाम घोषित कर दिए गए.

– यहां वार्ड नंबर एक, दो, तीन, चार और छह में निर्दलीय उम्मीदवारों ने बाजी मारी है. वहीं, वार्ड नंबर पांच, सात से बीजेपी के उम्मीदवार विजयी रहे.

राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट ने बताया कि 84 निकायों में मतगणना के लिए कुल 822 टेबल लगाई गई हैं. सबसे ज्यादा 226 टेबल यूएसनगर में, 166 देहरादून में और 96 टेबल नैनीताल में लगाई गई हैं. रुद्रप्रयाग में सबसे कम 12 टेबलों पर मतगणना हो रही है. मेयर, पालिकाध्यक्ष या नगर पंचायत अध्यक्ष के लिए नतीजे देर रात तक आने की उम्मीद है. चुनाव की पूरी तस्वीर साफ होने में बुधवार सुबह तक का समय लग सकता है. पूरे दिन और पूरी रात मतगणना की संभावना को देखते हुए आयोग ने इसकी भी पूरी तैयारियां की हैं.

एडीजी कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने बताया कि प्रदेश में 44 मतगणना स्थल बनाए गए हैं, जिनमें सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. दस हजार पुलिसकर्मी और होमगार्ड के अलावा 15 कंपनी पीएसी सुरक्षा में तैनात की गई है. सभी मतगणना स्थलों पर टेबल ड्यूटी के अलावा इन और आउटर कार्डन में थ्री लेयर सुरक्षा की गई है, जिनमें सशस्त्र पुलिसकर्मी तैनात हैं. सभी स्थलों पर सीसीटीवी कैमरों से लगातार नजर रखी जा रही है.