udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news उत्तराखंडः सेना ने cm का हेलीकॉप्टर उतरने से रोका, दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा !

उत्तराखंडः सेना ने cm का हेलीकॉप्टर उतरने से रोका, दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा !

Spread the love

देहरादूनः उत्तराखंडः सेना ने cm का हेलीकॉप्टर उतरने से रोका, दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा !सेना ने हेलीपैड पर दो ड्रम रखे हुए थे,सीएम के हेलीकॉप्टर को सेना के जीटीसी स्थित हेलीपैड पर उतरने नहीं दिया।मामले में सीएम के सुरक्षा स्टाफ ने पुलिस को शिकायत दी है। यही नहीं पहले एक अफसर ने गेट पर कार लगाकर सीएम के काफिले को भी रोका। 

 

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को हेलीकाप्टर से उत्तरकाशी जिले के सांवणी गांव में अग्निकांड पीड़ितों का हाल चाल जानने जाना था। उन्हें उत्तरकाशी में जखोल के अस्थायी हैलीपैड में उतरना था। इसके लिए देहरादून कैंट स्थित जीटीसी हैलीपैड से मुख्यमंत्री के हेलीकाप्टर को प्रस्थान करना था। मुख्य सुरक्षा अधिकारी के अनुसार सुबह दोपहर सवा 12 बजे जब मुख्यमंत्री की फ्लीट जीटीसी हैलीपैड पहुंची तो उस दौरान सेना के एक अफसर ने गोल्फ ग्राउंड के गेट पर अपनी निजी कार रोक दिया।

 

सीओ सिटी और थानाध्यक्ष कैंट ने उन्हें बताया कि सीएम की फ्लीट आ रही है, आप गाड़ी साइड लगा लीजिए। आरोप है कि अफसर ने कहा कि यह हमारा एरिया है और अपने सीएम को बता दो कि यहां हमारी मर्जी से ही आप लोग आ जा सकते हैं। फिर कुछ देर बाद सीएम के वाहन निकालने को जगह दी गयी। उसके बाद सीएम ने हेलीकाप्टर से उत्तरकाशी के लिए प्रस्थान किया। दोपहर साढ़े तीन बजे जब मुख्यमंत्री का हेलीकाप्टर जीटीसी हेलीपैड पर उतरने वाला था, तब कुछ सेना के जवानों ने हेलीपैड पर दो ड्रम रख दिए। इससे हेलीकाप्टर की लैंडिंग में अवरोध पैदा हो गया। पायलट को भी हेलीकॉप्टर से हेलीपैड पर रखे ड्रम नहीं दिखाई दिए, जब हेलीकाप्टर लैंड करने के लिए नीचे उतर रहा था, उसी दौरान पायलट को ड्रम दिखाई दिए।

 

पायलट ने समझदारी से काम लेते हुए तत्काल हेलीकाप्टर को दूसरी जगह पर लैंड कराया। अन्यथा कोई बड़ा हादसा हो सकता था। सीएम ने भी मामले में नाराजगी जताई। कहा, जमीन सेना की निजी नहीं है, यह भारत देश की जमीन है। मुख्यमंत्री के मुख्य सुरक्षा अधिकारी ने इस संबंध में थाना कैंट में रिपोर्ट दर्ज कराई है। साथ ही इसकी प्रति अपर पुलिस महानिदेशक (अभियोजन और सुरक्षा) को देकर जरूरी कार्रवाई के लिए लिखा है। अपर सिटी मजिस्ट्रेट और सीओ सिटी की ओर से भी इस संबंध में जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को रिपोर्ट भेजी है।

 

उधर, सैन्य अफसर का कहना है कि सीएम का काफिला रोकने वाली बात गलत है। ऐसा नहीं हुआ। जहां हेलीकॉप्टर लैडिंग की बात है, जहां लैंडिंग कराई जा रही थी वह जगह सुरक्षित नहीं थी। इस बारे में सरकार के बड़े अफसरों को जानकारी है।सचिवालय ने मामले की उच्चस्तरीय जांच बैठा दी है। इसके साथ ही इसकी शिकायत भारत सरकार के गृह मंत्रालय से भी की जा रही है। वहीं, सीएम ने भी मामले में नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि जमीन सेना की निजी नहीं है, यह भारत देश की जमीन है।