उत्तराखंड राज्य बनेगा देश का सबसे विकसित राज्य: अमित शाह

Spread the love

amit-shah-ki-almora-raili-8
अल्मोड़ा । उत्तराखंड गोविंद बल्लभ पंत की भूमि है। यह गंगा-यमुना की भूमि है। यह देवताओं की भूमि है लेकिन आज दुर्भाग्य से उत्तराखंड सौतेली मां के हाथ में है। देवभूमि की यह हालत देखकर बीमार पड़े अटल बिहारी वाजपेयी को सबसे ज्यादा दुख होता होगा। अगर 2017 में भाजपा सूबे की सत्ता में आई तो उत्तराखंड देश का सबसे विकसित राज्य बनेगा। यह कहना है भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अयक्ष अमित शाह का।
श्री शाह मंगलवार को यहां शहर के एसएस जीना मैदान में आयोजित भाजपा की परिवर्तन रैली को बतौर मुख्य वत्तफा संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विकास की सूची में उत्तराखंड अब काफी पीछे हो गया है। ईश्वर ने उत्तराखंड को कई धरोहरों से नवाजा है लेकिन उत्तराखंड का विकास नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि हरीश रावत की सरकार के वक्त राज्य का विकास यूपी के समय में हुए विकास से बेहद कम है। भाजपा नेता अमित शाह ने कहा कि भाजपा चाहती है कि दुनियाभर के पर्यटकों के लिए उत्तराखंड पसंदीदा राज्य बने।
amit-shah-ki-almora-raili-5
भाजपा चाहती है कि राज्य का औद्योगिक विकास हो। उन्होंने कहा कि अगर यहां की जनता भाजपा की सरकार लाकर दिखाएगी तो भाजपा उत्तराखंड को देश का सबसे विकसित राज्य बनाएंगे। अपने संबोधन में अमित शाह ने रावत सरकार में हुए घोटाले गिनवाए। अपने निर्धारित समय ग्यारह बजे से काफी विलंब से दोपहर डेढ़ बजे भाजपा के राष्ट्रीय अयक्ष अल्मोड़ा के एसएस जीना कैंपस पहुंचे। इस दौरान भाजपा नेताओं ने शाह का स्वागत किया और उन्हें गदा भेंट की। मंच पर अमित शाह का भव्य स्वागत किया गया। इसके बाद भाजपा के राष्ट्रीय अयक्ष अमित शाह ने भारत माता की जय नारे के साथ अपना संबोधन शुरू किया। शाह ने मंच में आसीन भाजपा के सभी वरिष्ट नेताओं को धन्यवाद कहा। नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने रैली के दौरान जनता को कुमाऊंनी भाषा में संबोधित किया।
amit-shah-ki-almora-raili-11
उन्होंने कहा कि भाजपा को उत्तराखंड से बहुत प्यार और सम्मान मिला है। बताते चले कि भाजपा ने पूरे प्रदेश में एक महीने तक चलने वाले परिवर्तन यात्रा का आयोजन किया है जिसकी शुरुआत बीते 13 नवंबर को देहरादून में अमित शाह की रैली से हुई थी। इसमें अमित शाह ने परिवर्तन रथों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। मंच पर भाजपा के वरिष्ठ नेता अजय भट्ट, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी, रमेश पोखरियाल निशंक, भुवन चंद्र खंडूरी, विजय बहुगुणा, केंद्रीय मंत्री अजय टम्टा और सतपाल महाराज सहित भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।