udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news वन पंचायतों की भूमिका से जंगल रहेंगे सुरक्षित: मंगेश

वन पंचायतों की भूमिका से जंगल रहेंगे सुरक्षित: मंगेश

Spread the love

उत्तराखण्ड एवं महाराष्ट्र से आये प्रशिक्षुओं ने की डीएम से मुलाकात
प्रशिक्षुओं ने ली जिले के विभिन्न स्थलों की जानकारी
रुद्रप्रयाग। शैक्षिक भ्रमण पर आए 32 प्रशिक्षु फॉरेस्ट रेंजर अधिकारियों ने जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल से वार्ता की। राजकीय इण्टर कॉलेज रुद्रप्रयाग में आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने प्रशिक्षुआंे को प्रशासन, जनता व वन के संबंध के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि वन पंचायतों की भूमिका को सक्रिय कर जंगलों को सुरक्षित रखा जा सकता है। इसके लिए ग्रामीणों से निरन्तर बातचीत की जाय, इससे विभाग व गांव में सामंजस्य बना रहेगा और ईकोटूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा।

सैंचुरी क्षेत्र में किसी प्रकार का वाह्य दखलअंदाजी नहीं होनी चाहिए। विकासात्मक कार्यो के लिए वनों का दोहन किया जाता है, यह जरूरी भी है कि विकास हो। वनों के दोहन के बदले में वन विभाग सरकार की नीति के तहत उससे दोगुने स्थानों पर पौधारोपण करता है, मगर यह सुनिश्चित किया जाय कि जितने पौधे लगाए गए हैं वे जीवित रहें।

इनका रख-रखाव विभाग द्वारा किया जाय। वनों को संरक्षित रखना वन विभाग का दायित्व है। इसके लिए सतत् विकास पर जोर दिया जाना चाहिए। कहा कि अपने दायित्वों का पारदर्शिता व ईमानदारी से निर्वहन किया जाय। इस अवसर पर प्रशिक्षुआंे ने जिलाधिकारी से यूपीएससी की तैयारी को लेकर प्रश्न पूछे गये कि किस प्रकार से लेखन कला को अच्छा बनाया जा सकता है।

जिलाधिकारी ने लेखन कला के विषय में कहा कि यह आवश्यक है कि जितने प्रश्न पूछे गए है उन्हें हल किया जाय। इसके लिए प्रतिस्पर्द्धी की लिखने की गति तेज व लिखावट सुंदर होनी आवश्यक है, जिससे इक्जामिनर को आसानी से समझ आ सके। इसके लिए रोज अभ्यास किया जाय तो लेखन कला अच्छी हो जाती है।

इस अवसर पर प्रशिक्षुओं के टूर निदेशक सुरेश देशपाण्डे ने कहा कि वन विभाग जनता व वन के हितों में संतुलन बनाकर कार्य करे, जिससे सकारात्मक परिणाम मिलेंगे। अपने अधीनस्थों पर भरोसा व हाइयर अधिकारी के प्रति वफादारी ही असली सफलता हैै। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य दिनेष कुमार वाजपेयी सहित उत्तराखण्ड के 26 एवं छः महाराष्ट्र के प्रशिक्षु रेंजर अधिकारी व सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे बच्चे उपस्थित थे।