udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news विभागों को कार्यों में तेजी लाने के निर्देश

विभागों को कार्यों में तेजी लाने के निर्देश

Spread the love
पौड़ी: विकास भवन सभागार में यमकेश्वर ब्लाक के अन्तर्गत गंगा ग्राम माला की कार्ययोजना की तैयारियों एवं क्रियान्वयन की समीक्षा बैठक जिलाधिकारी सुशील कुमार की अध्यक्षता में आयोजित की गई। जिलाधिकारी ने अब तक वन, उद्यान, कृषि, भेषज इकाई द्वारा किये गये कार्यों की समीक्षा ली। बैठक के दौरान कार्यों में धीमी गति पर जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों को कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये।
जड़ी-बूटी शोध संस्थान द्वारा कार्य प्रारम्भ ना करने पर जिलाधिकारी ने उक्त विभागों को अपने स्तर से अधिक से अधिक औषधीय पौधों का रोपण करने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होंने कहा कि मेडिसिन प्लांट भी लगाना सुनिश्चित करें। वन विभाग की कार्य प्रगति की जानकारी लेते हुए उन्होंने शेष कार्यों को अतिशीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये। स्वजल विभाग की समीक्षा के दौरान ठोस अपशिष्ट पदार्थों, घरों, होटलों व रेस्टोरेंट से निकले कूड़ा आदि की भी समीक्षा की। उन्होंने स्वजल को रिजाॅर्टों के सोलिड वेस्ट ट्रिटमेंट के तहत सभी होटल व्यवसायियों को इस विधि से कचरे के निस्तारण हेतु प्रेरित करने को कहा।
गंगा गांव माला में कार्य करने वाले विभागों द्वारा पानी नहीं होने की बात कही। जिस पर जिलाधिकारी ने यमकेश्वर के बीडीओ को जलस्रोत खोजने के निर्देश देते हुए पानी को स्टोरेज करने को कहा। ताकि पम्प के द्वारा पानी का प्रयोग किया जा सके। उन्होंने भेषज तथा उद्यान विभाग को लैमनग्रास के प्लांट लगाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने वहंा पर कृषि विभाग को जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए ठोस रणनीति बनाने के निर्देश दिये।
उन्होंने एनआरएलएम के माध्यम से एपीडी को लहसुन, अदरक, मिर्च आदि फसलों के उत्पादन करने के भी निर्देश अन्य रेखीय विभागों को दिये। उन्होंने पर्यटन विभाग को उस क्षेत्र में होम स्टे योजना को बढ़ावा देने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रशासन का उद्देश्य क्षेत्र में उद्यानीकरण से महिलाओं और युवकों को अधिक से अधिक स्वरोजगार से जोड़ना है। उन्होंने पर्यटन अधिकारी को मौके पर जाकर क्षेत्रवासियों को होम स्टे के प्रति प्रेरित करने के निर्देश दिये। 
जिलाधिकारी ने प्रभारी परियोजना प्रबंधक स्वजल को माला गांव में उक्त कार्यों की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी दीप्ति सिंह, जिला विकास अधिकारी वेदप्रकाश, परियोजना निदेशक एसएस शर्मा, सीएओ देवंेद्र राणा, डीपीआरओ एमएम खान, डीएचओ  डा0 नरेंद्र कुमार, जिला पर्यटन अधिकारी अतुल भंडारी समेत संबंधित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।
जिलाधिकारी सुशील कुमार ने जिला कार्यालय कक्ष में रेलवे परियोजना से संबंधित भूमि अधिग्रहण व अन्य कार्यों की जानकारी ली। इस दौरान जिलाधिकारी ने प्रभावितों को मुआवजा वितरण करने, रेल लाइन में आने वाली सरकारी सम्पत्ति की विस्तार से जानकारी ली। जिस पर अधिकारियों द्वारा बताया गया कि मुआवजा वितरण का कार्य लगभग पूरा कर लिया गया है तथा शासकीय सम्पत्ति आदि पर पत्राचार के माध्यम से भी समस्या का समाधान निकाला जा रहा है।
जो कि शीघ्र ही पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि नवनिर्मित रेललाइन पर कतिपय किसानों की फसलें चपेट में आ रही हैं। जिस पर उन्होंने जिलाधिकारी को पत्र के माध्यम से समस्या का निस्तारण करने की बात कही। इस अवसर पर वष्ठि भूमि अध्यापित अधिकारी आरडीएन एसके बर्नवाल, उप महाप्रबंधक रेल परियोजना श्रीनगर पीपी वडोगा, ओएम रेल निर्माण निमग श्रीनगर विनोद बिष्ट उपस्थित रहे।
 
जिलाधिकारी सुशील कुमार ने जिला कार्यालय कक्ष में पीएमजीएसवाई की सड़कों का सामान्य अनुरक्षण कार्यों की समीक्षा की। जिलाधिकारी ने सड़कों को प्राथमिकता के आधार पर मोटर मार्गों को सुचारू करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिम्मेदार विभाग ग्रामीण क्षेत्रों की लाइफ लाइनों को शीघ्र ही सुचारू करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य करना सुनिश्चित करें।
इस मौके पर पीएमजीएसवाई के अभियंताओं द्वारा बताया गया कि जनपद की पांच डिविजनों में जीसीबी मशीनों, श्रमिकों के साथ ही स्थानीय स्तर पर लोगों की सहायता से मार्गों के सामान्य अनुरक्षण का कार्य कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जनपद के दूरस्थ क्षेत्रों में इस प्रकार की व्यवस्था से ग्रामीण मोटर मार्गों को सुचारू किया जा रहा है। बताया कि जनपद के पांच विकास खंडों में सड़कों को फौरी तौर पर सुचारू करने के लिए स्थानीय श्रमिकों की भी सहायता ली जा रही है। 
जिनमें पाबौ में मिलई-कुई मोटर मार्ग, एकेश्वर में किर्खू-पांग मोटर मार्ग, पोखड़ा में कुंजखाल- कोटा मोटर मार्ग, थलीसैंण में संुदर बैंड-एथी मोटर मार्ग के अलावा बीरोंखाल में बेदीखाल-चोरकिंडा मोटर मार्ग पर स्थानीय महिला मंगल के माध्यम से ही झाड़ी कटान व नालियों की सफाई आदि का कार्य किया जा रहा है। जिस पर जिलाधिकारी ने युवा कल्याण अधिकारी को निरीक्षण करने के उपरान्त साथ ही आख्या प्रस्तुत करने को कहा।
इस मौके पर डीओ पीआरडी एसएस नेगी, ईई पीएमजीएसवाई वीरेंद्र दत्त जोशी, ईई पीएमजीएसवाई सतपुली बीपी नौटियाल, एई श्रीनगर नवाजिश हुसैन, सन्दीप सिंह, अरविंद रौथाण, आशीष शाह आदि उपस्थित रहे।