udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news विभिन्न क्षेत्रों में निवेश,पांच हजार करोड़ रूपये के एमओयू हस्ताक्षर किए

विभिन्न क्षेत्रों में निवेश,पांच हजार करोड़ रूपये के एमओयू हस्ताक्षर किए

Spread the love
देहरादून: मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की उपस्थिति में सचिवालय में एम.एस.एम.ई. विभाग व उद्योग विभाग तथा विभिन्न उद्योगपतियों के मध्य फार्मासूटिकल, हैल्थ एण्ड वैलनेस, होटल व रिजोर्ट निर्माण, कॉस्मेटिक्स व स्किन केयर, केबिल्स विर्निर्माण, रोप-वे, स्टोन क्रसर, बैंकिग क्षेत्र, भांग उत्पादन, मक्का से स्टार्च व ग्लूकोस उत्पादन, प्रिटिंग, एम्यूजमेंट पार्क व पिकनिक स्पॉट विकसित करने, खाद्य प्रसस्करण, ऑर्गेनिक, हर्बल व एरोमेटिक उत्पादन, ऐथोनॉल उत्पादन आदि विभिन्न क्षेत्रों में निवेश हेतु लगभग पांच हजार करोड़ रूपये के एमओयू हस्ताक्षर किए गए।
उद्योगपतियों को बधाई व शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उद्योगपति जो पहले से राज्य में कार्य कर रहे है तथा नए उद्योगपति व निवशक जो राज्य में निवेश के इच्छुक है, सभी को उत्तराखण्ड में व्यवसाय व निवेश के लिए पूरा सहयोग व हर संभव सहायता मिलेगी। राज्य सरकार द्वारा उद्योग जगत के सुझावों को अपनी नीतियों में सम्मिलित किया गया है।
उत्तराखण्ड में उद्योग स्थापित करने के इच्छुक लोगों को सभी आवश्यक सुविधाएं प्रदान की जाएगी। इसके लिए अधिकारी व प्रशासन तंत्र सदैव तैयार है। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने सभी उद्योगपतियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि निवेश से स्थानीय लोगों के लिये बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर खुलेंगे।
गौरतलब है कि रजस एयरोस्पोर्टस एण्ड एण्वेंचर प्राईवेट लिमिटेड द्वारा एमएसएमई विभाग व उद्योग विभाग के साथ रोपवे निर्माण, एयरो एण्डवेंचर फैसिलिटी पार्क, हाल सफारी, हॉट एयर बेलूनिंग, कैफेटेरिया व लॉन्ज विकसित करने हेतु 2020 करोड़ रूपये का एमओयू हस्ताक्षर किया गया। विभाग व कुमार ग्रुप ऑफ इण्डस्ट्रिज के बीच एमडीएफ बोर्ड निर्माण, रूद्रपुर में हॉलिस्टिक हॉस्पिटल निर्माण, मक्का प्रसंस्करण हेतु 1160 करोड़ रूपये का एमओयू किया गया। इण्डियन इण्डस्ट्रिज हैम्प ऐसोसियेशन के साथ भांग उत्पादन हेतु 650 करोड़ रूपये का एमओयू किया गया।
उत्तम शुगर देहरादून के साथ डिस्टलरी उत्पादन के क्षेत्र में 145 करोड़ एमओयू किया गया। मानस बंधु बिल्डटेक प्राइवेट लिमिटेड के साथ रिजॉर्ट व एम्यूजमेन्ट पार्क निर्माण हेतु 70 करोड़ रूपये का एमओयू किया गया। पैक लैब्स देहरादून के साथ प्रिन्टिंग के क्षेत्र में 30 करोड़ रूपये का एमओयू किया गया। एचडीएफसी बैंक ने सभी जिलों में अपनी शाखाएं खोलने व निवेशकों को उदार शर्तो पर ऋण देने हेतु एमओयू हस्ताक्षर किया।
कॉपमेड फार्मा देहरादून द्वारा फार्मासूटिकल के क्षेत्र में 160 करोड़ रूपये का एमओयू किया गया। सारा ग्रुप ऑफ कम्पनीज द्वारा विभिन्न क्षेत्रों  में निवेश हेतु 260 करोड़ रूपये का एमओयू किया गया। गोल्ड प्लस ग्लास इण्डस्ट्रिज द्वारा फलॉट ग्लास विर्निर्माण हेतु 600 करोड़ रूपये का एमओयू किया गया। क्वेंटा केबिल्स द्वारा केबिल्स विर्निर्माण हेतु 35 करोड़ रूपये का एमओयू किया गया। क्वेड्रा इन्फ्रा द्वारा ऑप्टिकल फाइबर , मोबाइल टावर, बिजली के खम्बे आदि को लगवाने हेतु 250 करोड़ रूपये का एमओयू किया गया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार श्री के.एस.पंवार, अपर मुख्य सचिव श्री रणवीर सिंह, प्रमुख सचिव श्रीमती मनीषा पंवार, निदेशक उद्योग श्री सुधीर नौटियाल सहित अन्य उद्योगपति उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। विश्व पर्यटन दिवस की पूर्व संध्या पर जारी अपने संदेश में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उत्तराखण्ड पर्यटन, वेलनेस टूरिज्म तथा आयुष के क्षेत्र में एक प्रमुख केंद्र के रूप में उभरा है। प्रदेश का नैसर्गिक प्राकृतिक सौन्दर्य सदियों से पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहा है।
जबकि यहां के चारधाम देश व दुनिया के करोड़ों लोगों के आस्था के केंद्र है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने मे पर्यटन का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। इसी के दृष्टिगत राज्य में पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया गया है। भारत सरकार द्वारा उत्तराखण्ड को ‘‘मोस्ट फ्रेंडली स्टेट फॉर फिल्म शूटिंग’’ घोषित किया गया है। राज्य में पिछले एक वर्ष में 12 बडे बैनर सहित लगभग 80 फिल्मों की शूटिंग की गई है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने इस अवसर पर प्रदेशवासियों का आह्वान किया कि ‘अतिथि देवो भवः’ की हमारी परम्परा रही है। हमें अपनी इस परम्परा को सदैव कायम रखना होगा। उन्होंने कहा कि पर्यटन दिवस को मनाये जाने का मुख्य उद्देश्य, दुनियाभर में लोगों को पर्यटन के महत्व के प्रति जागृत करना है। उन्होंने कहा कि पर्यटन की किसी भी देश के सामाजिक, सांस्कृतिक और आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका होती है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उत्तराखण्ड के पर्यटन को वर्षभर स्थानीय निवासियों के लिए आर्थिक गतिविधियों का स्रोत बनाये जाने का हमारा प्रयास है। इस वर्ष अबतक लगभग 25 लाख श्रद्धालुओं ने उत्तराखण्ड की चारधाम यात्रा की है। प्रदेश में पर्यटन को बढावा देने के लिये ’13 जिले-13 नए पर्यटन गंतव्य’, स्थापित किये जाने के साथ ही अनेक अन्य पर्यटन गंतव्य विकसित करने की दिशा में भी पहल की जा रही है।
चारधाम सड़क योजना का निर्माण तेजी से हो रहा है। इससे प्रदेश में आने वाले पर्यटकों, तीर्थयात्रियों को आवागमन में आसानी होगी। श्री केदारनाथ धाम का पुनर्निर्माण कार्य अंतिम चरण पर है। इसे विश्व स्तरीय धार्मिक स्थल बनाया जा रहा है।