udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news विजयसाल लकड़ी कई रोगों के लिए है रामबाण इलाज

विजयसाल लकड़ी कई रोगों के लिए है रामबाण इलाज

Spread the love
देहरादून। इंडो-नेपाल टेªड फेयर एवं टूरिज्म फेस्टेवल में भारत और नेपाल ने आपसी व्यापार को बढ़ाने के लिए लगभग 155 स्टॉल लगाये हैं जिसमें 100 स्टॉल भारत के अलग-अलग राज्यों से आये हैं तो 55 स्टॉल नेपाल के विभिन्न प्रदेशों से आये हैं। प्रतिदिन दूनवासी ट्रेड फेयर का आनंद ले रहे हैं छुटटी के दिन रविवार को ट्रेड फेयर में लोगों की काफी भीड़ देखने को मिली।
इण्डो-नेपाल के इस ट्रेड फेयर को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। यहां पर नेपाल से आये स्टॉलों लोंगो का अपनी पसंद की चीजें मिल रही हैं और खरीददारी कर रही हैं। महेन्द्रनगर कंचनपुर के भट्ट मेरिट काष्ठ उद्योग के मनीराज भट्ट ने बताया कि दुर्लभ विजयसाल (वानस्पतिक नाम पेट्रोकारपस मार्सूपियम) की लकड़ी औषधीय गुणों का खजाना है।
इसके बने गिलास को खरीदनें के लिए लोगों की भीड़ लग रही है। उन्होंने कहा कि इस गिलास में पानी पीने से शरीर के कई रोग जैसे शूगर, जोड़ों का दर्द, अम्ल-पित्त, धातु रोग, हाथ-पैरों के कंपन्न में लाभ, मधुमेह में नियन्त्रित, उच्च रक्त-चाप में नियन्त्रित, मोटापा कम करना, त्वचा के कई रोगों जैसे खास-खुजली, दाने होना आदि के लिए यह रामबाण है। मनीराज ने बताया कि इस गिलास में रात को पानी रखे और सुबह छानकर पीने से कई रोग दूर होते है।
उन्होंने कहा कि पिछली बार भी लोगों की काफी डिमान्ड थी उसी प्रकार इस बार भी बहुत लोग विजयसाल की लकड़ी, जग व बुरादा खरीदने के लिए आ रहे हैं। इंडो-नेपाल टेªड फेयर एवं टूरिज्म फेस्टेवल में नेपाल से कई उत्पादों के स्टॉल लगे हैं जिसमें आपको नेपाल की खूखरी, ढाका टोपी, छुरपी, पसमीना, गुदरूक, नेपाली अदरक की काफी खरीददारी हो रही है। यह मेला दो फरवरी से 12 फरवरी तक चलेगा।
वहीं इण्डो-नेपाल ट्रेड फेयर एण्ड टूरिज्म फेस्टेवल के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शुरूआत रविवार को कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने दीप प्रज्जवित कर की। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शुरूआत गणेश वंदना के साथ हुई। इसके बाद वीर गोर्खा कल्याण समिति की ओर से रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए गये। जिसमें नेपाली गीतों पर कलाकारों ने सुन्दर प्रस्तुतियां देकर सभी का मन मोह लिया।
सांस्कृतिक कार्यक्रमों में मंच का संचालन देबिन शाही वीर गोर्खा कल्याण समिति के सचिव ने किया। इस अवसर पर मेजर बीपी थापा समाजिक कार्यकर्ता, मधु थापा, नेपाल के कंचनपुर चैम्बर ऑफ कामर्स एण्ड इंड्रस्ट्री के वरिष्ठ उपाध्यक्ष जंग बहादुर, कोषाध्यक्ष खगेश्वर प्रसाद बोरा, उपाध्यक्ष तेग सिंह कार्यकारी अधिकृत प्रेम सिंह भाट, वीर गोर्खा कल्याण समिति के अध्यक्ष श्रवण कुमार प्रधान, स्थानीय कोर्डिनेटर सूर्य बिक्रम शाही अध्यक्ष गोर्खा इन्टरनेशनल सोसियो कल्चरल फाउन्डेशन, विशाल थापा सचिव हैल्प क्रॉस, टेकू थापा, आशा थापा, रितू गुरूरंग, कमला थापा उपाध्यक्ष वीर गोरखा कल्याण समिति सहति सैकड़ों लोग उपस्थित थे।