udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news व्यवस्थाओं पर संबंधित अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर नाराजगी जताई

व्यवस्थाओं पर संबंधित अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर नाराजगी जताई

Spread the love
पौड़ी:  जिलाधिकारी सुशील कुमार ने कोटद्वार क्षेत्र में बढ़ते अतिक्रमण, सफाई आदि व्यवस्थाओं पर संबंधित अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर नाराजगी जताई। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को शहर में सफाई व्यवस्था दुरस्त करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने हिदायत दी कि सफाई व्यवस्था में लापरवाई की पुनरावृत्ति होने पर संबंधित सुपरवाइजर का वेतन काटा जाएगा। उन्होंने पहली अक्टूबर से ही शहर की सफाई में अपडेट लाने के निर्देश दिये हैं। 
जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय में आयोजित बैठक में उन्होंने कोटद्वार क्षेत्र में बढ़ते अतिक्रमण तथा नदियों व नालों किनारे अवैद्य निर्माण पर चिंता जताई। उन्होंने राजस्व, लोनिवि, सिंचाई तथा नगर निगम के अधिकारियों को इसमें आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शहर में अतिक्रमण को हटाने के लिए प्रशासन व पुलिस समय-समय पर अभियान चलान सुनिश्चित करे।
कहा कि झंडाचैक, सुखरौ, सनेई आदि क्षेत्रों में अतिक्रमण अधिक हो रहा है। उन्होंने इन क्षेत्रों में प्राथमिकता के आधार पर शीघ्र अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिये। शहर के पनयाली नाला, सुखरो, मालन आदि के आस पास के क्षेत्र मंे अवैद्य निर्माण पर भी ठोस कार्यवाही करने को कहा। जिलाधिकारी ने एनएच को झण्डाचैक पर सड़कों के दोनों ओर सफेद हाईलाइट पट्टी तथा रिफ्लैक्टर लगाने के निर्देश दिये। 
जिलाधिकारी ने नगर निगम द्वारा की जा रही सफाई व्यवस्था को नाकाफी बताया। उन्होंने एसडीम कोटद्वार को औचक निरीक्षण करने के निर्देश दिये। उन्होंने हिदायत देते हुए कहा कि सफाई के मामले में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। गम्भीरता नहीं बरतने पर सभी संबंधितों का वेतन भी काटा जाएगा। इस मौके पर जिलाधिकारी ने नगर निगम के वित्तीय स्थिति की भी समीक्षा की।
बताया गया कि राज्य वित्त आयोग से एक करोड़ 20 लाख, स्वच्छ भारत मिशन में 54 लाख, डोअर-टू-डोअर कूड़ा कलैक्शन में 8 लाख 48 हजार समेत विभिन्न मदों में धनराशि प्राप्त हुई है। नगर निगम द्वारा जेसीबी खरीदने में आ रही दिक्कतों से भी जिलाधिकारी को अवगत कराया गया। मामले में जिलाधिकारी ने ई-टेंडरिंग द्वारा जेसीबी खरीदने के निर्देश दिये। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत अधिक से अधिक लाभार्थियों का चयन करने को कहा।
कहा कि वर्ष 2019 तक कोटद्वार क्षेत्र में एक हजार आवासों का निर्माण किया जाना भी सुनिश्चित करें। इस मौके पर अपर जिलाधिकारी रामजी शरण शर्मा, एसडीएम कोटद्वार कमलेश मेहता, एसडीएम लैंसडोन केएस नेगी, ईई लोनिवि निर्भय सिंह, जिला पर्यटन अधिकारी अतुल भंडारी समेत संबंधित विभागों के जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।